• Wed. Jul 17th, 2024

Haridwar Kanvad Mela जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक  

ByAdmin

Jun 22, 2024

*नहर पटरी का भ्रमण करने के पश्चात मेला कंट्रोल भवन पहुंचे एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोबाल*

*“कांवड़ मेला 2024” को सकुशल संचालित करने के लिए की गई गहन परिचर्चा* 

*क्राउड कंट्रोल एवं ट्रैफिक मैनेजमेंट के लिए तैयार की जा रही है खास रणनीति*

*सभी थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र में पूरी करें तैयारी, पर्यवेक्षण का जिम्मा सर्किल ऑफिसर्स को*

*पुलिस अधीक्षक स्तर के ऑफिसर्स को पड़ोसी राज्य एवं जनपदों की पुलिस से समन्वय बनाने के दिए निर्देश*

*वर्षा ऋतु में बारिश और बाढ़ जैसे हालात पर इमरजेंसी प्लान तैयार करने पर भी किया गया मंथन* 

*कांवड़ यात्रा हर वर्ष नया चैलेंज लेकर आती है, हमें अपना सौ फीसदी देना होगा : प्रमेन्द्र सिंह डोबाल*

 

जनपद पुलिस अधिकारियों के साथ कांवड़ नहर पटरी, ख्याति ढाबे से हर की पैड़ी तक नेशनल हाईवे, मार्ग के दोनों तरफ एवं नजदीकी इलाकों में पार्किंग की संभावना, मुख्य मार्ग के अतिरिक्त अन्य वैकल्पिक मार्ग इत्यादि के निरीक्षण पश्चात एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोबाल मातहत संग कंट्रोल रूम पहुंचे जहां शहर क्षेत्र के व्यापारिक वर्ग के कांवड़ मेला के संदर्भ में सुझाव एवं शिकायतों के संदर्भ में वार्ता की गई।

सीसीआर स्थित कॉन्फ्रेंस हॉल में एसएसपी की अध्यक्षता में आयोजित उक्त बैठक में जनपद के सभी पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी एवं थाना प्रभारी शामिल हुए।

अपनी अन्य व्यस्तताओं के बावजूद जिलाधिकारी हरिद्वार भी उक्त बैठक में सम्मिलित हुए जिनके द्वारा व्यापारियों द्वारा कांवड़ को लेकर की गई अपनी विभिन्न मांगों,सुझाव व शिकायतों के संदर्भ में उचित मार्गदर्शन व आश्वासन दिया गया।

बैठक की शुरुआत करते हुए श्री डोबाल द्वारा कांवड़ यात्रा के सकुशल आयोजन के लिए अभी तक की गई तैयारियों पर सिलसिलेवार चर्चा करते हुए अधीनस्थों को किसी भी प्रकार की कोई कमी न रखते हुए शेष बची हुई सभी व्यवस्थाओं को समय रहते दुरुस्त करने हेतु निर्देशित किया।

एसपी सिटी द्वारा कांवड़ यात्रा 2024 के लिए पीपीटी प्रेजेंटेशन दिया गया। एसपी क्राइम द्वारा ट्रैफिक से संबंधित रूप प्लान के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई और विषम परिस्थितियों में अन्य वैकल्पिक मार्गो के बारे में बताया गया।

मौजूद ऑफिसर्स से उनके अनुभवों की जानकारी लेते हुए श्री डोबाल द्वारा कहा गया कि प्रत्येक अधिकारी अपने-अपने पॉइंट पर व्यक्तिगत जिम्मेदारी लेते हुए इस अति महत्वपूर्ण मेले को कुशलता से संपन्न कराने में अपना शत प्रतिशत योगदान दें। सभी को अपनी जिम्मेदारी समझनी है। मौके की स्थिति के अनुसार अपने विवेक का प्रयोग करते हुए तत्काल निर्णय लेना है जिससे स्थिति सामान्य रहे। जल पुलिस एवं आपदा राहत दल 24 घंटे समस्त उपकरणों के साथ तैयारी की दशा में रहेगी। पुलिस की सभी टीमें आपस में वैल कनेक्टेड रहनी चाहिए।

सीसीटीवी मॉनिटरिंग हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है वहां पर नियुक्त कर्मचारी मेले की हर गतिविधि पर नजर बनाए रखें कहीं पर भी स्थिति प्रतिकूल लगती है तो तत्काल अपने उच्चाधिकारी को सूचित करें।

इस दौरान मिटिंग में सम्मिलित हुए हर की पैड़ी क्षेत्र के व्यापारी नेता कमल बृजवासी (शहर संयोजक), राजन सेठ (प्रदेश मंत्री), प्रदीप कालरा (संयोजक), शिवकुमार कश्यम (संयोजक), राजीव पराशर (नगर अध्यक्ष), अमित शर्मा (नगर महामंत्री), राम अरोड़ा (नगर कोषाध्यक्ष), अरुण अग्रवाल, राजेश पुरी, राजू बक्शी आदि द्वारा मेला शुरू होने से पहले अवैध अस्थाई रूप से बनी दुकानों को तत्काल हटाए जाने, व्यापारियों के नजदीक ही दोपहिया वाहनों की पार्किंग बनाने, हिल बाईपास को उपयोग में लाने, जिला चिकित्साल में अच्छी सुविधाएं दिए जाने ताकि इमरजेंसी की स्थिति में भीड़ अधिक होने पर मरीज का इलाज वहीं अच्छे प्रकार से किया जाए और मरीज की एंबुलेंस को जाम में न जाना पड़े आदि सुझाव देते हुए पुलिस एवं प्रशासन से सहयोग की आशा करते हुए अपनी तरफ से भी पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *