• Sun. Apr 21st, 2024

2024 में मोदी को फिर प्रधानमंत्री बनाने को दिल्ली में होगा यज्ञ

ByAdmin

Oct 4, 2023



अखिल भारतीय सनातन परिषद की ओर से होगा आयोजन

• देश भर के सनातन प्रेमियों को एकसूत्र में बांधने का प्रयास



Haridwar news देश भर के सनातन प्रेमियों को एकसूत्र में बांधने और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को साल 2024 के लोकसभा चुनाव में फिर से देश का प्रधानमंत्री बनाने के लिए अखिल भारतीय सनातन परिषद के तत्वावधान में आगामी फरवरी में राजधानी दिल्ली में भव्य और ऐतिहासिक यज्ञ का आयोजन होगा। यज्ञ की तैयारियों को लेकर बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता अखिल भारतीय सनातन परिषद के संस्थापक अध्यक्ष श्री महंत रविंद्र पुरी महाराज और संचालन राष्ट्रीय महामंत्री पुरुषोत्तम शर्मा ने की। अखिल भारतीय सनातन परिषद के संस्थापक अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज ने कार्यक्रम की रूपरेखा पर पदाधिकारियों के साथ चर्चा की।



Haridwar news अखिल भारतीय सनातन परिषद के संस्थापक अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज ने कहा कि यज्ञ का आयोजन देश में शांति व सुख समृद्धि लाने के लिए किया जाएगा। जिसमें देश-विदेश से आए संत समाज, प्रतिष्ठित व्यक्ति व अंतर्राष्ट्रीय स्तर के लोग शामिल होंगे। यज्ञ की सभी तैयारियां समय से पूरी कर ली जाएंगी।

राष्ट्रीय प्रवक्ता महामंडलेश्वर स्वामी महेशानंद महाराज ने कहा कि श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज के नेतृत्व में होने वाले इस यज्ञ में देश में सनातन की स्थापना के साथ-साथ
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर देश की बागडोर सौंपने की कामना की जाएगी।

समाजसेवी जेपी बड़ोनी ने कहा कि यह यज्ञ समाज को एक नई दिशा देगा और सनातन की रक्षा के लिए प्रेरणा देने का भी कार्य करेगा। यज्ञ के माध्यम से सनातन प्रेमियों को आगे लाने का अथक प्रयास श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज की ओर से किया जा रहा है। इस अवसर पर हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष अजय चौहान, संजय बलोदी ने दिल्ली के संयुक्त सचिव प्रदीप गोस्वामी, प्रदीप गोयल, आदि ने भी यज्ञ को एतिहासिक बनाने पर जोर दिया।

बैठक में राष्ट्रीय प्रवक्ता महामंडलेश्वर महेशानंद गिरि महाराज, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविक्षित रमन, हरियाणा प्रभारी सतीश वन, हरियाणा अध्यक्ष अजय सिंह चौहान, वरिष्ठ समाजसेवी जेपी बडोनी,स्वामी रामेश्वरानंद, सुरेश कुमार यादव,आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *