• Wed. Jul 17th, 2024

शक्ति का साक्षात् स्वरूप थीं हीरा बेनः युगपुरुष परमानन्द

ByAdmin

Jun 19, 2024


उत्तरी हरिद्वार की प्रख्यात धार्मिक संस्था श्री लालमाता मंदिर वैष्णो देवी गुफा में हीरा बेन मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर किया गया उनका भावपूर्ण स्मरण व फल-शर्बत का वितरण



हरिद्वार

उत्तरी हरिद्वार की प्रख्यात धार्मिक संस्था श्री लालमाता मंदिर सिद्धपीठ वैष्णो देवी गुफा में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की माता जी स्व. श्रीमती हीरा बेन मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर संस्था के प्रबन्धक भक्त दुर्गादास के संयोजन व युगपुरुष स्वामी परमानन्द जी महाराज की अध्यक्षता में उनका भावपूर्ण स्मरण कर फल-शर्बत का वितरण किया गया।
युग पुरुष स्वामी परमानन्द जी महाराज ने कहा कि स्व0 हीराबेन मोदी शक्ति का साक्षात् स्वरूप थीं। विषम परिस्थितियों में उन्होंने अपने बच्चों में संस्कार, सेवा व राष्ट्र प्रेम का संचार किया। उनकी कोख से जन्में श्री नरेन्द्र भाई मोदी ने समूचे विश्व में भारत को एक महाशक्ति के रूप में स्थापित करने का कार्य किया है। स्व. हीराबेन मोदी ने ही अपने बच्चों को कठोर परिश्रम व लक्ष्य प्राप्ति का महत्व सिखाकर देश को नरेन्द्र मोदी जैसा नेता सौंपने का कार्य किया है। आज उनकी जयन्ती के अवसर पर भक्त दुर्गादास ने लालमाता मंदिर में यह आयोजन कर हीराबेन मोदी ही नहीं अपितु देश की समस्त माताओं का सम्मान करने का कार्य किया है।
संस्था के प्रबन्धक भक्त दुर्गादास ने कहा कि स्व. हीराबेन मोदी की प्रतिमा विगत् वर्ष लालमाता मंदिर के पवित्र प्रांगण में स्थापित की गयी थी। आज उनके जन्मदिवस व प्रतिमा स्थापना के प्रथम वार्षिकोत्सव के अवसर पर संत समाज व श्रद्धालुजन उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि व पुष्पांजलि अर्पित कर रहे हैं। भक्त दुर्गादास ने कहा कि प्रत्येक मनुष्य के जीवन में मां का विशिष्ट स्थान होता है। मां ही बच्चों की प्रथम शिक्षक होती है। स्व. हीराबेन मोदी ने गरीबी व अभाव में भी अपने बच्चों की बेहतर परवरिश कर साबित कर दिया कि यदि मां का भाव पवित्र व संकल्प मजबूत हो तो वह अपने बच्चों को संस्कारित कर उन्हें सफलता के शिखर पर स्थापित कर सकती है। आज उनकी जयन्ती पर कृतज्ञ राष्ट्र उन्हें नमन कर रहा है।
भाजपा नेता अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि स्व. हीराबेन मोदी का जीवन प्रत्येक माता के लिये आदर्श है। यदि माता ठान ले तो वह अपने बच्चों को चरित्र, संस्कार व राष्ट्र प्रेम की भावना से ओत-प्रोत कर राष्ट्र की मजबूती में योगदान दे सकती है। रानी लक्ष्मीबाई, जीजाबाई की भांति ही स्व. हीराबेन मोदी का नाम भी स्वर्ण अक्षरों दर्ज हो गया है।
हीराबेन मोदी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि के पश्चात् युगपुरुष स्वामी परमानन्द जी के कर कमलों द्वारा फल व शर्बत का वितरण प्रारम्भ किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से भक्त दुर्गादास ज्योर्तिमयानन्द, अनिरूद्ध भाटी, धनीराम, राकेश सकलानी, दीवान सिंह, हीरा जोशी, हेमन्त थपलियाल समेत अनेक गणमान्य जन उपस्थित रहे।

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *